• +91 0771-2246440
  • +91 0788-2242591
  • premprakashpandeyji@gmail.com

रायपुर : राजस्व मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने किया कोण्डागांव जिले में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का शुभांरभ



राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने आज कोण्डागांव जिला मुख्यालय के टाउन हाल में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का शुभांरभ किया गया। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना महिलाओं के स्वास्थ्य, सम्मान एवं सुविधा से जुड़ी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की महत्वपूर्ण महत्वाकांक्षी अभिनव योजना है। श्री पाण्डेय ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएं भोजन पकाने के लिए परम्परागत ईंधन के रूप में लकड़ी, कोयले और गोबर के कंडे का उपयोग करती है। जिससे उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं का अधिकांश समय खाने पकाने के लिए ईंधनों की व्यवस्था करने में व्यतीत होता है। इन सभी बातों और उनसे जुड़ी तकलीफों का ध्यान रखते हुए प्रधानमंत्री उज्जवला योजना शुरू की गई है। श्री प्र्रेमप्रकाश पाण्डेय ने कहा कि घरेलू गैस सस्ता एवं प्रदूषण मुक्त ईंधन है और भोजन पकाने में सुगम होने के साथ-साथ महिलाओं के भोजन पकाने में लगने वाले समय की भी बचत होगी। उन्होने बताया कि राज्य सरकार ने गरीब महिलाओं के स्वास्थ्य, समय और आर्थिक बचत संबंधी हितों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री उज्जवला योजना लागू की है। उन्होंने कहा कि इसके लिए भारत सरकार द्वारा 1600/- रूपये के गैस कनेक्शन को निःशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। हितग्राही को केवल 200/- रूपये का अंशदान देना होगा, जिसके एवज में 02 बर्नर वाला गैस चूल्हा एवं पहला भरा सिलेण्डर दिया जायेगा। राज्य सरकार द्वारा इसके लिए प्रति हितग्राही लगभग 1400/- रूपये का अनुदान दिया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत ऐसे परिवारों को एल.पी.जी. कनेक्शन प्रदाय किया जायेगा जो सामाजिक-आर्थिक जनगणना 2011 ;ैम्ब्ब्द्ध की सूची में शामिल है। कोण्डागांव जिले में कुल 08 गैस एजेन्सियों के माध्यम से 19 हजार 218 हितग्राहियों के आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 14 हजार 933 हितग्राही पात्र पाए गए हैं। आज शिविर के माध्यम से टोकन के रूप में 61 हितग्राहियों को योजना से लाभान्वित किया जा रहा है। राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने प्रतीक स्वरूप चौदह हितग्राहियों को गैस कनेक्शन कार्ड वितरित किया। इनमें फूलवती मरकाम, जानकी मरकाम, गोन्ची बघेल, पंचो पटेल, सावित्री नेताम, सुशिला निषाद, राजेश्वरी यादव, श्याम बाई, अन्जू ध्रुव, सूरजबती, सुपोतीन, फुलबती शोरी, सरिता कोर्राम एवं दुर्गा कोर्राम को दिया। उन्हों्रने कहा कि इसके पश्चात विकासखण्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित कर गैस एजेन्सियों के द्वारा पात्र हितग्राहियों को जन प्रतिनिधियों की उपस्थिति में एल.पी.जी. कनेक्शन वितरण करने की कार्यवाही की जाएगी। राजस्व मंत्री ने कहा कि युवाओं को स्थानीय बाजार की जरूरत के हिसाब से हुनरमंद बनाने के लिए राज्य के सभी 27 जिलों में लाइवलीहुड की स्थापना की गई है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत युवाओं को उनके रूचि के अनुसार प्रशिक्षण दिया जा रहा है । जिला कलेक्टर श्रीमती शिखा राजपूत तिवारी ने कहा कि खाना बनाने के दौरान धुएं से निजात दिलाने के लिए सरकार द्वारा इस महत्वपूर्ण योजना की शुरूआत की गई है। रसोई गैस सस्ता व सुगम ईंधन है, इससे पर्यावरण के नुकसान से मुक्ति मिलेगी ही और आधुनिक तरीके से समय पर भोजन भी पकेगा। साथ ही उन्होने इसके उपयोग एवं रख-रखाव के लिए आम जनता को सुरक्षा एवं सावधानी बरतने की जरूरत पर भी जोर दिया। इस अवसर पर सांसद बस्तर श्री दिनेश कश्यप, सांसद कांकेर विक्रम उसेण्डी, अध्यक्ष नागरिक आपूर्ति निगम सुश्री लता उसेण्डी, विधायक कोण्डागांव मोहन मरकाम, विधायक केशकाल संतराम नेताम, जिला पंचायत अध्यक्ष नरेन्द्र नेताम, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अभिजीत सिंह, वनमंडलाधिकारी आर.सी.दुग्गा, के.आर.उके, अपर कलेक्टर निर्मल तिग्गा, खाद्य अधिकारी के.एस.नाग सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।